Home International अमेरिकाः आय, नस्ल, उम्र के हिसाब से हो रहा कोरोना का असर;...

अमेरिकाः आय, नस्ल, उम्र के हिसाब से हो रहा कोरोना का असर; न्यूयॉर्क, ब्रुकलिन में गरीबों की मौतें अमीरों से दोगुनी



अमेरिका में कोरोना संक्रमण भी आय, नस्ल, उम्र के हिसाब से हो रहा है। संक्रमण से होने वाली मौतें और अस्पताल में भर्ती मरीजों की संख्या को इलाके के हिसाब से देखें, तो आप पाएंगे किइसमें भारी विषमता है। जहां अमीरों के इलाकों में संक्रमण और मौतों की संख्या कम है, वहीं गरीबों के इलाकों में मौतों की संख्या लगभग दोगुनी है।

इतना ही नहीं, कोरोना ने नस्ल और जातिगत रूप से भी लोगों को काफी प्रभावित किया है। न्यूयॉर्क के स्वास्थ्य विभाग ने न्यूयॉर्क में विभिन्न इलाकों के जिप कोड के आधार पर रिपोर्ट जारी की है, जिसमें इन सब बातों का जिक्र किया गया है।

न्यूयॉर्क और ब्रुकलिन में कोरोना के असर में भारी अंतर

रिपोर्ट के मुताबिक, गरीबों के इलाके में प्रति एक लाख लोगों पर होने वाली मौतों की संख्या 232 हैं, जबकि समृद्ध माने जाने वाले क्षेत्रों में यह आंकड़ा करीब 100 है, यानी आधे से भी कम। खासतौर पर न्यूयॉर्क और ब्रुकलिन में कोरोना के असर में भारी विषमता देखने को मिल रही है।

न्यूयॉर्क में लैटिन अमेरिकी लोगों की मौत सबसे ज्यादा हुईं

ब्रोंक्स में कोरोनोवायरस के मामलों, अस्पताल में भर्ती लोगों और मौतों की दर सबसे ज्यादा है। वहीं, नस्ल या जाति के हिसाब से न्यूयॉर्क में लैटिन अमेरिकी लोगों की मौत सबसे ज्यादा हुई है। इसके अलावा उम्र भी एक बड़ा कारक रही है। जहां सबसे ज्यादा मौतें हुई हैं, वहां की एक बड़ी आबादी 65 साल से ज्यादा उम्र की है।

मध्यम आय वाले परिवारों में ज्यादा मौतें

न्यूयॉर्क सिटी हेल्थ डिपार्टमेंट के मुताबिक, अश्वेत और लैटिन अमेरिकी बहुल इलाकों में मौतें ज्यादा हुई हैं। यहां ज्यादातर कम और मध्यम-आय वाले परिसर हैं। जिप कोड डेटा में केवल वे मामले शामिल हैं जो कोरोना टेस्ट में पॉजिटिव मिले हैं।

सबसे ज्यादा मौतें ब्रुकलिन के गरीब इलाकों में, सबसे कम मैनहट्टन में

ब्रुकलिन के स्टारेट सिटी के नाम से मशहूर स्प्रिंग क्रिक टॉवर्स में मृत्यु दर सबसे ज्यादा रही है। यहां प्रति एक लाख लोगों में 612 मौतें हुई हैं। क्वींस में 445, जबकि ब्रोंक्स में यह आंकड़ा 429 रहा है। वहीं मैनहट्टन जैसे अमीरों के इलाकों में मौतें लगभग नहीं के बराबर हुई हैं। सबसे कम मृत्यु दर वाले अधिकांश इलाके मैनहट्टन में हैं, और यहां हर व्यक्ति की औसत आय छह अंकों में है।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


स्वास्थ्य विभाग ने न्यूयॉर्क में विभिन्न इलाकों के जिप कोड के आधार पर रिपोर्ट जारी की है, जिसमें इन सब बातों का जिक्र किया गया है।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

भोपाल की कर्णिका ने प्रदेश में टॉप किया, उन्होंने 5 साल पहले पिता को खोया, कई बार भूखे रहकर पढ़ाई की; पीएससी में सिलेक्शन...

मध्यप्रदेश शिक्षाबोर्ड की कक्षा 10वींमें टॉप करने वाली भोपाल की कर्णिका मिश्रा ने इस दिन के लिए कई बार भूखे पेट तक पढ़ाई...

मोदी ने कहा- जनता के सुख दुख में कंधा से कंधा मिलाकर कैसे खड़े होते हैं यह राजस्थान की भाजपा इकाई ने करके दिखाया है

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भाजपा के ‘सेवा ही संगठन’ कार्यक्रम के जरिए पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित किया। मोदी ने कहा-जनता के सुख दुख...

अमेरिका ने मिलिट्री एक्सरसाइज के लिए दो एयरक्राफ्ट कैरियर उतारे, इसी इलाके में चीन पहले से कर रहा एक्सरसाइज

साउथ चाइना सी में चीन की मिलिट्री एक्सरसाइज के बीचअब अमेरिका ने भी इस क्षेत्र में दो एयरक्राफ्ट कैरियर भेज दिएहैं। चीन ने...

दिल्ली-मुंबई समेत 6 शहरों से कोलकाता के लिए 6 से 19 जुलाई तक फ्लाइट्स नहीं चलेंगी

कोलकाता के लिए दिल्ली, मुंबई, नागपुर, चेन्नई, अहमदाबाद और पुणे से 6 से 19 जुलाई तक फ्लाइट्स नहीं चलेंगी।हम इसे लगातार अपडेट कर...

Recent Comments