Home National पायलट ने कहा- वी हैव लॉस्ट द इंजन; फिर प्लेन मोबाइल टॉवर...

पायलट ने कहा- वी हैव लॉस्ट द इंजन; फिर प्लेन मोबाइल टॉवर से टकराया और घरों पर क्रैश हो गया



कराची में शुक्रवार दोपहर करीब 2.45 बजे पाकिस्तान एयरलाइंस कंपनी (पीआईए) का प्लेन क्रैश हो गया। इसमें 98 यात्री और क्रू मेंबर थे। प्लेन एयरपोर्ट से कुछ किलोमीटर पहले रिहायशी इलाके पर गिरा। 13 शव बरामद हो चुके हैं। क्रैश होने से पहले पायलट सज्जाद गुल और एयर ट्रैफिक कंट्रोलर की बातचीत हुई थी। इसका ऑडियो टेप भी सामने आया। पायलट ने एटीसी से कहा था कि एयरक्राफ्ट का इंजन खराब हो चुका है। एटीसी ने उससे कहा कि एयरपोर्ट पर दो रनवे खाली हैं।

लाहौर से भरी थी उड़ान
लाहौर से यह एयरक्राफ्ट 1 बजे उड़ा। इसे 2.45 पर कराची एयरपोर्ट पर लैंड करना था। इसके 9 मिनट पहले यानी 2.33 बजे यह क्रैश हो गया। एक चश्मदीद के मुताबिक, “प्लेन सबसे पहले एक मोबाइल टॉवर से टकराया। इसके बाद घरों पर क्रैश हुआ। यहां से एयरपोर्ट चंद किलोमीटर दूर है।”

ये भी पढ़ें:कराची एयरपोर्ट पर लैंडिंग से महज एक मिनट पहले रिहायशी इलाके में पैसेंजर प्लेन क्रैश

पायलट और एटीसी की बातचीत
प्लेन के पायलट का नाम सज्जाद गुल था। क्रैश के ठीक पहले उनकी एटीसी से बातचीत हुई। इसका ऑडियो सामने आया है। ये बातचीत इस तरह थी।
पायलट : सर हमें सीधा आने की कोशिश कर रहे हैं। हमारा इंजन खराब हो गया है।
एटीसी : आप नीचे उतरने की कोशिश कीजिए। रनवे तैयार हैं।
पायलट : मे डे (mayday) पाकिस्तान 8303। यही पायलट के आखिरी शब्द थे। इसके बाद प्लेन क्रैश हो गया।

क्या होता है मे डे (mayday) कॉल?
किसी प्लेन का पायलट या शिप का कैप्टन इसे कभी नहीं करना चाहता है। दरअसल, जब किसी प्लेन के पायलट या शिप के कैप्टन को यह लगने लगता है कि अब वो जहाज या शिप को नहीं बचा पाएगा। इन हालात में वो संबंधित एटीसी या कंट्रोल बॉडी से रेडियो कम्युनिकेशन यानी फोन पर बात करता है। आखिरी सफर की आशंका के वक्त किए गए इस कॉल को ही मे डे (mayday) कॉल कहते हैं।

देखें : कराची विमान हादसे की तस्वीरें

एयरलाइंस ने क्या कहा?
पीआईए पाकिस्तान की सरकारी एयरलाइंस कंपनी है। इसके चीफ एग्जीक्यूटिव एयर मार्शल अरशद मलिक ने कहा, “पायलट ने आखिरी बातचीत में बताया था कि एयरक्राफ्ट में टेक्निकल फॉल्ट है। एटीसी ने उसको बताया कि दो रनवे खाली हैं। वो किसी पर भी लैंड कर सकता है। लेकिन, उसने एक चक्कर लगाने का फैसला किया। उसने ऐसा क्यों किया? टेक्नीकल फॉल्ट क्या था? इसकी हम जांच करेंगे।”

कितनी ऊंचाई पर था प्लेन?
दोपहर 2:34 पर ये प्लेन 275 फीट की ऊंचाई पर था। इसी वक्त लैंडिंग का फैसला लिया गया। लेकिन, इसके फौरन बाद ये फिर ऊपर चला गया। 2:40 पर ये 525 फीट की ऊंचाई पर था। इसी वक्त पायलट और एटीसी के बीच आखिरी बातचीत हुई। एविएशन एक्सपर्ट जफर इकबाल कहते हैं, “मुझे शक है कि प्लेन की बॉडी को नुकसान हुआ होगा। हो सकता है कोई पक्षी या कोई दूसरी चीज टकराई हो।” रेस्क्यू में लगी टीम का कहना है कि ऑपरेशन खत्म करने में दो दिन भी लग सकते हैं। कुल 15 घरों को नुकसान पहुंचा है।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


प्लेन कराची एयरपोर्ट से चंद किलोमीटर दूर एक रिहायशी इलाके पर क्रैश हुआ।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

ट्रम्प ने सुरक्षा के मद्देनजर कुछ चीनी नागरिकों के अमेरिका में प्रवेश पर रोक लगाई, डब्ल्यूएचओ से सभी रिश्ते तोड़ने का ऐलान किया

दुनियाभर में फैली कोरोना महामारी को लेकर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने शुक्रवार को एक बार फिर चीन और डब्ल्यूएचओ को कटघरे में...

डीजीसीए ने कहा- टिड्डों का झुंड फ्लाइट्स की लैडिंग और टेकऑफ के लिए खतरा, ये दिखाई दें तो पायलट तुरंत सूचना दें

भारत में टिड्डियों के आंतक से न सिर्फ किसान परेशान हैं, बल्कि अब इससे हवाई जहाजों को भी खतरा है। इसे देखते हुए...

रिकॉर्ड 217 नए मामले, अकेले गुड़गांव में 115 पॉजिटिव; फरीदाबाद में कोरोना से 8वीं मौत

हरियाणा मेंदिल्ली से सटे जिलों में कोरोना तेजी से फैल रहा है। प्रदेश में महज पांच दिनों में 919 नए मामले आए हैं।...

संक्रमितों की संख्या 8 हजार के पार; कोटा के कोविड संदिग्ध वार्ड में युवक की तड़प-तड़पकर मौत

शुक्रवार को 298 नए पॉजिटिव केस सामने आए। इनमें जोधपुर में 67, भरतपुर में 45, झालावाड़ में 42, जयपुर में 23, नागौर में...

Recent Comments