Home National 3 अप्रैल तक 22.6% ग्रोथ रेट से बढ़ रहा था संक्रमण, अब...

3 अप्रैल तक 22.6% ग्रोथ रेट से बढ़ रहा था संक्रमण, अब घटकर 5.5% पर पहुंचा, पिछले चार दिनों से हर रोज एक लाख लोगों की जांच हो रही



केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि 3 अप्रैल तक नए केस की संख्या में तेजी से इजाफा हो रहा था। ग्रोथ रेट 22.6% था लेकिन इसके बाद इसमें कमी आना शुरू हुआ। आज ग्रोथ रेट घटकर 5.5 हो गया है। यह देश के लिए राहत की बात है। मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने बताया कि अभी ग्रोथ रेट में काफी कमी आई है। अगर उसी ग्रोथ रेट से मामले बढ़ते तो हालत गंभीर होती।
इंडियन काउंसिल फॉर मेडिकल रिसर्च (आईसीएमआर) ने बताया कि देश में अब ज्यादा से ज्यादा टेस्टिंग पर फोकस किया जा रहा है। पिछले चार दिनों से हर रोज एक लाख से ज्यादा टेस्टिंग हो रही है। आज 1 लाख 57 हजार 16 लोगों का टेस्ट हुआ है। अभी तक 27 लाख लोगों की जांच की जा चुकी है। 19434 टेस्ट हुए। एक लाख 3 हजार 829 टेस्ट आज हुए हैं। चार दिनों से रोजाना एक लाख से ज्यादा टेस्ट हो रहे हैं। देश में मौतों की रफ्तार भी कम हुई है। आंकड़े देखें तो 19 मई को देश में3.13% की दर से मौतें हो रही थीं, अब यह घटकर3.0% हो गई है।

लॉकडाउन की वजह से काफी मौतें और संक्रमण रोका जा सका

एम्पॉवर्ड ग्रुप के चेयरमैन वीके पॉल ने बताया किजब देश में लॉकडाउन शुरू हुआथा तो संक्रमण काडबलिंग रेट 3.4 दिन था। मतलब हर 3.4 दिन में संक्रमितों की संख्या दोगुनी हो रही थीलेकिन आज यह 13.3 दिन हो गया है। संक्रमण को फैलने से रोकने में लॉकडाउन ने काफी मदद की। इसके चलते हमने 14 से 29 लाख संक्रमण के मामले और 38 हजार से 78 हजार मौतें रोकने में सफलता पाई है। पॉल ने बताया किइतना बड़ा देश होने के बावजूद संक्रमण कुछ स्थानों तक सिमट कर रह गया। संक्रमण के कुल मामलों में 80% केवल 5 राज्यों से हैं। इनमें भी 60% मामले 5 शहरों तक सिमटे हुए हैं। इसी तरहअगर हम 90% मामलों का आंकलन करते हैं तो ये देश के 10 राज्यों से आए हैं। इनमें भी 70% मामले केवल 10 शहरों से हैं।

स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया- एक लाख 85 हजार बेड तैयार कर लिए

  • संक्रमण के चलते अभी तकएकलाख 85 हजार कोविड बेड का प्रयोग हुआ है। 3 लाख बेड तैयार हैं जिनका अभी तक प्रयोग नहीं हुआ है। ये आगे की परिस्थिति के लिए है।
  • लॉकडाउन के दौरान2 लाख से ज्यादा कोविडडेडिकेटेड सुविधाएं अस्पतालों में जुटाई गई हैं।
  • 56 लाख से ज्यादा वॉलिंटियर्स को ट्रेनिंग दी गई है। स्वास्थ्य मंत्रालय के वेबिनार में 24 लाख लोग शामिल हुए हैं।
  • आने वाले 6-8 हफ्ते में हर रोज 5 लाख पीपीई किट देश में तैयार होने लगेगा।
  • 5 कंपनियों के 4-6 वैज्ञानिक वैक्सीन तैयार करने में जुटे हुए हैं। कई के ट्रायल भी शुरू हो चुके हैं।

इम्युनिटी सही रखने की कोशिश करें

स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि ये वायरस अभी खत्म नहीं है। अब भी हम इसके बारे में बहुत सारी बातें नहीं जानते, इसलिए हमें चौकन्ना रहने की जरूरत है। हर किसी कोअपनी इम्युनिटी को सही रखने के लिए आयुष मंत्रालय के गाइडलाइंसका पालन करना चाहिए। अगर किसी को भी समस्या है तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। छुपाने से यह बीमारी दूर नहीं होगी। आगे का सफर आसान नहीं होगा, यह हफ्ते या महीनों की बात नहीं उससे आगे की बात होगी।


आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


सूरत के डायमंड मैन्युफैक्चरिंग यूनिट में काम के लिए प्रवेश करते कर्मचारी। इस दौरान सभी ने सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल रखा।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

ट्रम्प ने सुरक्षा के मद्देनजर कुछ चीनी नागरिकों के अमेरिका में प्रवेश पर रोक लगाई, डब्ल्यूएचओ से सभी रिश्ते तोड़ने का ऐलान किया

दुनियाभर में फैली कोरोना महामारी को लेकर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने शुक्रवार को एक बार फिर चीन और डब्ल्यूएचओ को कटघरे में...

डीजीसीए ने कहा- टिड्डों का झुंड फ्लाइट्स की लैडिंग और टेकऑफ के लिए खतरा, ये दिखाई दें तो पायलट तुरंत सूचना दें

भारत में टिड्डियों के आंतक से न सिर्फ किसान परेशान हैं, बल्कि अब इससे हवाई जहाजों को भी खतरा है। इसे देखते हुए...

रिकॉर्ड 217 नए मामले, अकेले गुड़गांव में 115 पॉजिटिव; फरीदाबाद में कोरोना से 8वीं मौत

हरियाणा मेंदिल्ली से सटे जिलों में कोरोना तेजी से फैल रहा है। प्रदेश में महज पांच दिनों में 919 नए मामले आए हैं।...

संक्रमितों की संख्या 8 हजार के पार; कोटा के कोविड संदिग्ध वार्ड में युवक की तड़प-तड़पकर मौत

शुक्रवार को 298 नए पॉजिटिव केस सामने आए। इनमें जोधपुर में 67, भरतपुर में 45, झालावाड़ में 42, जयपुर में 23, नागौर में...

Recent Comments