राष्ट्रीय उपभोक्ता विवाद निपटान आयोग (एनसीडीआरसी) ने वाहन चोरी एक मामले में निजी क्षेत्र की बीमा कंपनी चोलामंडलम जनरल इंश्योरेंस को शिकायतकर्ता के

राष्ट्रीय उपभोक्ता विवाद निपटान आयोग (एनसीडीआरसी) ने वाहन चोरी एक मामले में निजी क्षेत्र की बीमा कंपनी चोलामंडलम जनरल इंश्योरेंस को शिकायतकर्ता के दावे का जल्द निपटारा करने का निर्देश दिया है। बीमा कंपनी को शिकायतकर्ता तनुश्री मंडल को बतौर हर्जाना 50,000 रुपए और मुकदमा खर्च के 5,000 रुपए 30 दिन के भीतर अदा करने होंगे। साथ ही इस राशि पर चोरी की सूचना देने वाली तारीख से पॉलिसी की राशि पर 5% दर से ब्याज भी देना होगा। मंडल ने कंपनी से 1,16,000 रुपए की पॉलिसी ली थी। तनुश्री ने बीमा कंपनी को फोन पर इसकी सूचना दी तो कंपनी ने एफआईआर की कॉपी के साथ लिखित में सूचना देने को कहा। तनुश्री को 10 जुलाई 2008 को एफआईआर मिल गई थी। अगले दिन उन्होंने इसकी कॉपी के साथ बीमा कंपनी को लिखित सूचना दी। कंपनी का कहना था कि चोरी की सूचना 14 दिन की निर्धारित अवधि के बाद दी थी। यह पॉलिसी की शर्तों का उल्लंघन है। लेकिन आयोग ने कहा कि चोरी की सूचना समय पर दी गई थी।

बीमा की रकम पर 5% ब्याज भी देने को कहा



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today