गाजियाबाद.पिछले हफ्ते गाजियाबाद में विटारा ब्रेजा कार में आप कार्यकर्ता नवीन दास (46) मृत पाए गए थे। उनकी हत्या जबरन समलैंगिक (गे) संबंध बनाने को लेकर

गाजियाबाद.पिछले हफ्ते गाजियाबाद में विटारा ब्रेजा कार में आप कार्यकर्ता नवीन दास (46) मृत पाए गए थे। उनकी हत्या जबरन समलैंगिक (गे) संबंध बनाने को लेकर जलाकर की गई थी। गाजियाबाद पुलिस का दावा है कि नवीन दिल्ली में घर से अलग फ्लैट लेकर गे-पार्टनर के साथ लिव-इन में रहना चाहता था। इस पर आरोपी गे-पार्टनर ने मना कर दिया था। इसके बाद नवीन उस पर दबाव बनाने लगा था और समाज में इस रिश्ते को सार्वजनिक करने की बात कहने लगा था।

इसी से गुस्से में आकर गे-पार्टनर ने अपने 3 रिश्तेदारों के साथ मिलकर नवीन को मिलने के लिए 4 अक्टूबर की शाम गाजियाबाद के लोनी में बुलाया। वहां हलवे में बेहोशी की दवा दे दी। बेहोश होने पर नवीन के फोन, घड़ी व एटीएम कार्ड ले लिए और उसके अकाउंट से 7 लाख रु. ट्रांसफर कर लिए थे। उसकी कार में ही जलाकर हत्या कर दी थी। आरोपी स्कूटी से फरार हो गए थे। 5 अक्टूबर तड़के नवीन का जला हुआ शव मिला था।

2 साल पहले हुई मुलाकात, डेढ़ साल से थे समलैंगिक संबंध :एसएसपी ने बताया कि मृत नवीन दास दिल्ली के बुद्धनगर इंद्रपुरी के रहने वाले थे। करीब 2 साल पहले नवीन और तैय्यब की एक पार्टी में मुलाकात हुई थी। तैय्यब इवेंट ऑर्गनाइजर का काम करता है। दोनों में मुलाकात के बाद डेढ़ साल से समलैंगिक संबंध हैं। दोनों अक्सर दिल्ली में होने वाली गे-पार्टियों में भी शामिल होने जाते थे।

कोर्ट के फैसले के बाद एक साथ रहने का बनाया दबाव :तैय्यब ने बताया कि समलैंगिकता पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद नवीन खुश था। नवीन कहता था कि उन्हें किसी से डरने की जरूरत नहीं है। घर से अलग नवीन ने फ्लैट ले लिया और उसमें साथ रहने के लिए दबाव बनाने लगा था। खराब आर्थिक स्थिति से गुजर रहे तैय्यब ने उसे मारने और अकाउंट से लाखों रु. निकालने की साजिश रच डाली थी।

आरोपियों से फोन, घड़ी और 4.85 लाख रुपए बरामद :एसएसपी, गाजियाबाद वैभव कृष्ण ने बताया कि मुख्य आरोपी तैय्यब उर्फ आदी को गिरफ्तार कर लिया गया है। इसके अलावा आरोपी के भाई तालिब और दोस्त भी गिरफ्तार किया गया है। तीनों के कब्जे से लूटे हुए फोन, घड़ी और 4.85 लाख रुपए भी बरामद किए गए हैं। एसएसपी ने बताया कि तैय्यब ने बयान दिया है कि समलैंगिक रिश्ते बनाए रखने और साथ में रहने के लिए नवीन लगातार दबाव बना रहा था। नवीन के पास काफी जायदाद थी। इसलिए भी लालच और समलैंगिक संबंध को हमेशा के लिए खत्म करने के लिए उसकी हत्या करने की साजिश रची थी।

मारने से पहले नवीन के खाते से ट्रांसफर किए 7.85 लाख :नवीन की हत्या की साजिश में मुख्य आरोपी ने भाई व दोस्त को शामिल किया। इन्हें समलैंगिक रिश्तों के बारे में नहीं बताया था। इसके बजाय उसके पास लाखों रु. होने की जानकारी दी थी। 4 अक्टूबर को तैय्यब ने फोन कर नवीन को रात में बुलाया। तालिब और समर स्कूटी से गाजियाबाद के भोपुरा के पास पहुंचे। यहां तीनों नवीन की कार में बैठ गए और फिर हलवे में नशीला पदार्थ मिला उसे खिला दिया था। नवीन जब नशे में थे तभी तैय्यब ने उनसे स्मार्ट फोन ले लिया और इंटरनेट बैंकिंग का पासवर्ड पूछ 7.85 लाख रु. ट्रांसफर कर लिए थे। आरोपियों ने कार पर पेट्रोल डाल आग लगा दी थी। पुलिस का कहना है कि तैय्यब से पिता ताहिर कुरैशी 3 लाख रु. ले चुका है और वह फरार हो गया है। उसकी अभी तलाश की जा रही है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
नवीन दास (फाइल फोटो)
पुलिस हिरासत में आरोपी।