दूरसंचार मंत्रालय ने वोडाफोन इंडिया और आइडिया सेल्युलर के विलय को सशर्त मंजूरी दे दी है। इस विलय के बाद बनने वाली नई कंपनी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम

दूरसंचार मंत्रालय ने वोडाफोन इंडिया और आइडिया सेल्युलर के विलय को सशर्त मंजूरी दे दी है। इस विलय के बाद बनने वाली नई कंपनी देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम सर्विस प्रोवाइडर कंपनी होगी। इसका मूल्य 1.5 लाख करोड़ रुपए से अधिक होगा। विभाग ने वोडाफोन के वन टाइम स्पेक्ट्रम चार्ज के लिए 3,926 करोड़ रुपए नकद भुगतान करने को कहा है। यह राशि वोडाफोन या आइडिया दोनों में से कोई भी दे सकती है। आइडिया को 3,342 करोड़ की बैंक गारंटी भी देने को कहा है। सूत्रों ने सोमवार को यह जानकारी दी। विलय के बाद अस्तित्व में आने वाली कंपनी का नाम वोडाफोन आइडिया लिमिटेड होगा। इसके लिए आइडिया के शेयरधारकों से मंजूरी ली जाएगी। 39.01% (19.74%+19.27%) बाजार हिस्सेदारी और 43.88 करोड़ ग्राहकों के साथ यह देश की सबसे बड़ी मोबाइल सर्विस ऑपरेटर कंपनी बन जाएगी। फिलहाल भारती एयरटेल 27.44% मार्केट शेयर और 30.86 करोड़ ग्राहकों के साथ सबसे बड़ी कंपनी है। इस विलय से कर्ज के बोझ में दबी दोनों कंपनियों को थोड़ी राहत मिलेगी। दोनों के लिए बाजार प्रतिस्पर्धा कम होगी। टॉप-5 टेलीकॉम कंपनियों पर एक नजर कंपनी मार्केट शेयर ग्राहक संख्या भारती...

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें