उन्होंने कहा कि सीजेआई उस वक्त संविधान पीठ में सुनवाई कर रहे थे। ऐसे में जस्टिस चेलमेश्वर का आदेश वैध था। सुनवाई के दौरान बेंच ने कहा कि सीजेआई मास्टर ऑफ

उन्होंने कहा कि सीजेआई उस वक्त संविधान पीठ में सुनवाई कर रहे थे। ऐसे में जस्टिस चेलमेश्वर का आदेश वैध था। सुनवाई के दौरान बेंच ने कहा कि सीजेआई मास्टर ऑफ रोस्टर है और पहले भी कई फैसलों में यह कहा जा चुका है। इस मुद्दे पर बेंच ने अटॉर्नी जनरल केके वेणुगोपाल से राय मांगी है। अगली सुनवाई 27 अप्रैल को होगी।