नई दिल्ली.दक्षिण-पश्चिम मानसून की विदाई अगले दो दिन (10 अक्टूबर को) में पूरे देश से हो जाएगी। ये दावा स्काईमेट के मौसम मौसम वैज्ञानिक महेश पहलावत ने की है।

नई दिल्ली.दक्षिण-पश्चिम मानसून की विदाई अगले दो दिन (10 अक्टूबर को) में पूरे देश से हो जाएगी। ये दावा स्काईमेट के मौसम मौसम वैज्ञानिक महेश पहलावत ने की है। उनका कहना है कि मानसून विदाई इस पिछले आठ साल में सबसे देरी से 29 सितंबर को शुरू हुई थी जबकि बाकी सालों में 4 सितंबर से 27 सितंबर के बीच शुरू हुई है,तो वहीं पूरे देश से मानसून 21 दिन से 45 दिन में विदा हुआ है।

इस साल मध्य प्रदेश में बने एंटी साइक्लोन से पश्चिमी शुष्क हवाएं तेजी से पूर्वी भारत तक पहुंच गई। इससे बारिश रुकी और दोबारा बारिश का सिस्टम भी नहीं बना। अभी बने सिस्टम से साफ है कि अब 10 अक्टूबर तक दक्षिण भारत के हिस्से से भी मानसून विदा हो जाएगा। आगे की बारिश पश्चिमी विक्षोभ पर ही निर्भर करेगा। स्काईमेट मौसम विशेषज्ञों ने साफ किया है कि कर्नाटक और आंध्रप्रदेश तक विदाई हो गई है।

दिल्ली-एनसीआर में 11-12 अक्टूबर को हल्की बारिश हो सकती है। इसके बावजूद तापमान में अभी अगले एक हफ्ते किसी बड़ी गिरावट के संकेत नहीं हैं। अधिकतम तापमान 32-33 डिग्री व न्यूनतम तापमान 22-23 डिग्री के बीच रहेगा। इससे पहले 9-10 अक्टूबर को सुबह के समय हल्की धुंध भी रहेगी।

मौसम विभाग के अनुसार कश्मीर, हरियाणा, चंडीगढ़ और दिल्ली में न्यूनतम तापमान कहीं-कहीं व हिमाचल और पूर्वी यूपी में कुछ जगह सामान्य से 1-3 डिग्री तक नीचे दर्ज किया गया। दक्षिण मानसून की विदाई के साथ ही गुजरात के हिस्सों में गर्मी बढ़ी है। यहां अधिकतम तापमान 42-43 डिग्री के बीच रहा है।

किस साल कितने दिन में वापसी

2011 23 सितंबर से 24 अक्टूबर 32 दिन
2012 24 सितंबर से 16 अक्टूबर 23 दिन
2013 09 सितंबर से 21 अक्टूबर 42 दिन
2014 23 सितंबर से 18 अक्टूबर 21 दिन
2015 04 सितंबर से 19 अक्टूबर 45 दिन
2016 15 सितंबर से 28 अक्टूबर 43 दिन
2017 27 सितंबर से 25 अक्टूबर 28 दिन


Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
The fastest return of Monsoon