अमित कर्ण।मुंबई।।मोल्‍स्‍टेशन और सेक्‍स क्राइम सिर्फ बॉलीवुड में मौजूद नहीं है। उसकी जड़ें पॉलिटिक्‍स और स्‍पोट्र्स में भी गहरी हैं। इन दिनों तो

अमित कर्ण।मुंबई।।

मोल्‍स्‍टेशन और सेक्‍स क्राइम सिर्फ बॉलीवुड में मौजूद नहीं है। उसकी जड़ें पॉलिटिक्‍स और स्‍पोट्र्स में भी गहरी हैं। इन दिनों तो तनुश्री दत्ता अपनी आपबीती सुना रही हैं। अब एक और एक्‍टर ने बड़ा खुलासा किया है।‘भाबीजी घर पर हैं’के मशहूर कैरेक्‍टर पगलैट सक्‍सेना जी को निभाने वाले सानंद वर्मा हैं। वे इसके शिकार होते-होते रह गए थे। हालांकि जिस शख्‍स ने उनसे‘कॉम्‍प्रोमाइज’करने को कहा था,उसकी बॉडी लैंग्‍वेज का इस्‍तेमाल सानंद वर्मा ने अपने हालिया कैरेक्‍टर के क्रिएशन में की। वह कैरेक्‍टर‘पटाखा’का ठरकी पटेल है।

सानंद वर्मा ने बताया, ‘बात नाइनटीज के दशक की है। तब मैं क्रिकेट में अच्‍छा कर रहा था। पटना का एक मशहूर क्रिकेट कोच था। रणजी क्रिकेट टीम में चयन करवा देना उसके लिए बड़ी बात नहीं थी। एक शाम उसने मुझे अपने घर बुलाया। मेरी उम्र बमुश्किल 14-15 साल थी। उसने मुझसे‘कॉम्‍प्रोमाइज’करने को कहा था। वैसा करने पर उसने रणजी टीम में सेलेक्‍ट करने का वादा किया। उसकी वह बात सुनकर मैं घबरा गया। मैं वहां से भाग गया। मैं इतना डर गया था कि मैंने वह बात किसी से नहीं कही।‘

पिताजी का ट्रांसफेरेबल जॉब था। हम दूसरे शहर आ गए। वह बात आई-गई रह गई। मगर वह वाकया मेरे जहन में कहीं अटका रहा। जब यह ठरकी पटेल कैरेक्‍टर निभाने का मौका मिला तो मैंने उस क्रिकेट कोच का चेहरा,उसकी आंखों में बसी हवस को रिविजिट किया। उसी तरह बिहेव किया और ठरकी पटेल को पर्दे पर जीवंत किया। मोल्‍स्‍टेशन और सेक्‍शुअल अटैक के मामले दुर्भाग्‍यपूर्ण हैं। अगर चश्‍मदीद गवाह न हो तो हम इसे साबित नहीं कर सकते। यही वजह है जो मैं उस क्रिकेट कोच का नाम नहीं ले सकता,क्‍योंकि मेरे पास उसके गुनाह साबित करने के डॉक्‍युमेंट्री एविडेंसेज नहीं हैं।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Tharki Patel's character created from cricket coach who propositioned me: Saanand Verma