पिछले साल चित्रांगदा सिंह कुशान नंदी की फिल्म 'बाबूमोशाय बंदूकबाज' को छोड़ने की वजह से सुर्खियों में थी। एक्ट्रेस ने फिल्म के डायरेक्टर पर हेरेस करने का

पिछले साल चित्रांगदा सिंह कुशान नंदी की फिल्म 'बाबूमोशाय बंदूकबाज' को छोड़ने की वजह से सुर्खियों में थी। एक्ट्रेस ने फिल्म के डायरेक्टर पर हेरेस करने का आरोप लगाया था। उनका कहना था कि डायरेक्टर ने सेट पर उनके साथ बुरा व्यवहार किया। उनसे नवाजद्दीन के साथ गंदे सीन करने के लिए कहा गया।
तनुश्री दत्ता के 'मीटू' कैम्पैन में हिस्सा लेने के लिए चित्रांगदा काफी खुश हूं। उनको लगता है कि लोग अब अपने साथ हुए र्दुव्यवहार के बारे में आवाज उठा रहे हैं और लोग उनक मदद कर रहे हैं, जो कि एक अच्छी पहल है। मैं इसका क्रेडिट तनुश्री दत्ता को देती हूं। उन्होंने सभी परिस्थितियों का डटकर सामना किया। साथ ही वे इसके लिए मीडिया को भी धन्यवाद देती हैं क्योंकि उन्होंने इस मुद्दे को उठाया।
अपने समय को याद करते हुए वे कहती हैं कि, जब मैं शूटिंग कर रही थी तो फिल्म के डायरेक्टर अचानक से वे आ गए और मुझसे फालतू के सीन करने के लिए कहने लगे। उन्होंने मुझसे कहा कि, 'अपना पेटीकोट उतारो और रगड़ो अपने आप को'। ऐसे कौन बात करता है। यह शॉकिंग था। मैंने इसका विरोध किया और फिल्म छोड़ दी। जब ये इंसीडेंट हुआ नवाज वहां थे, फोटोग्राफ के डायरेक्ट वहा थे और एक फीमेल प्रोड्यूसर भी थी लेकिन, किसी ने भी इसका विरोध नहीं किया। इसके बाद हुई प्रेस मीट में कहा कि अच्छा हुआ उन्होंने फिल्म छोड़ दी हमें उनसे भी अच्छा रिप्लेसमेंट मिल गया। फिल्म के प्रमोशन के समय नवाजउद्दीन ने कहा कि हमने तो बारी मजे कर लिए'।
अभी चित्रांगदा अपकमिंग फिल्म 'बाजार' के प्रमोशन में बिजी हैं। वे आगे कहती हैं कि तनुश्री दत्ता की बात को सुना जा रहा है इस बात से मैं खुश हूं। मुझे लगता है कि ये सभी बातें बॉलीवुड में क्रांति लेकर आएंगी।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
During my time, nobody supported me, recollects Chitrangada Singh :MeToo