जोधपुर की विशेष अदालत ने आसाराम को दुष्कर्म का दोषी ठहराया है। सुरक्षा की वजह से जोधपुर सेंट्रल जेल के भीतर ही यह फैसला सुनाया गया। आरोप है कि आसाराम ने

जोधपुर की विशेष अदालत ने आसाराम को दुष्कर्म का दोषी ठहराया है। सुरक्षा की वजह से जोधपुर सेंट्रल जेल के भीतर ही यह फैसला सुनाया गया। आरोप है कि आसाराम ने 15-16 अगस्त 2013 की रात जोधपुर के पास मणाई गांव में 16 साल की लड़की से दुष्कर्म किया था। जिसमें चार और लोगों ने मदद की थी। 20 अगस्त 2013 को पीड़िता के परिजनों ने दिल्ली के कमला मार्केट थाने में रेप का केस दर्ज कराया। इसके बाद दिल्ली के कमला नगर थाने में दर्ज जीरो एफआईआर को जोधपुर भेजा गया। 31 अगस्त 2013 को जोधपुर पुलिस की एक टीम ने मध्य प्रदेश के इंदौर जिले से आसाराम को गिरफ्तार कर लिया। तब से आसाराम जोधपुर जेल में बंद है। आसाराम ने जमानत पर रिहा होने के बाद देश के बड़े से बड़े वकील को हायर किया। वकीलों ने अपनी पूरी ताकत लगा दी लेकिन आसाराम को जमानत नहीं दिला पाए। आज उनमें से कुछ वकीलों के बारे में बताते हैं।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें