बेंगलुरू.   देश की सबसे बड़ी ऑनलाइन रिटेल कंपनी फ्लिपकार्ट के प्रमुख शेयरधारक अपनी हिस्सेदारी वॉलमार्ट को बेचने पर सहमत हो गए हैं। लेकिन बड़ी शेयरधारक

बेंगलुरू.   देश की सबसे बड़ी ऑनलाइन रिटेल कंपनी फ्लिपकार्ट के प्रमुख शेयरधारक अपनी हिस्सेदारी वॉलमार्ट को बेचने पर सहमत हो गए हैं। लेकिन बड़ी शेयरधारक सॉफ्टबैंक और अच्छी कीमत चाहती है। सूत्रों ने बताया कि वॉलमार्ट न्यूयॉर्क की इन्वेस्टमेंट फर्म टाइगर ग्लोबल मैनेजमेंट, नैस्पर्स, वेंचर कैपिटल फर्म एक्सेल और टेन्सेंट होल्डिंग की हिस्सेदारी डील के करीब पहुंच गई है। फ्लिपकार्ट के संस्थापक, सचिन और बिन्नी बंसल अपनी हिस्सेदारी से एक हिस्सा बेच सकते हैं। इन छह शेयरधारकों की बेंगलुरू मुख्यालय वाली फ्लिपकार्ट में 55% से ज्यादा की हिस्सेदारी है। फ्लिपकार्ट में 20% हिस्सेदारी के साथ सॉफ्टबैंक सबसे बड़ी शेयरधारक है।     वॉलमार्टने65 से78 हजार करोड़ रुपए की पेशकश की वालमार्ट ने इसके सामने फ्लिपकार्ट को खरीदने के लिए 65,000 से 78,000 करोड़ रु. तक ऑफर रखा है,  लेकिन सॉफ्टबैंक शेयरों की सेकंडरी सेल के जरिए करीब 97,500 करोड़ रु. से 1.10 लाख करोड़ चाहती है। सॉफ्टबैंक ने अपने 6.5 लाख करोड़ के विजन फंड में से 16,250 करोड़ रुपए पिछले साल फ्लिपकार्ट में निवेश किए थे।    सॉफ्टबैंक के...