न्यूज डेस्क। बैंक अब अधिकांश सर्विसेज के चार्ज लेते हैं। मिनिमम बैलेंस मेंटेन न करन से लेकर एटीएम से पैसे निकालने तब पर ग्राहकों को अतिरिक्त चार्ज देना

न्यूज डेस्क। बैंक अब अधिकांश सर्विसेज के चार्ज लेते हैं। मिनिमम बैलेंस मेंटेन न करन से लेकर एटीएम से पैसे निकालने तब पर ग्राहकों को अतिरिक्त चार्ज देना होता है। यह छोटे-छोट चार्ज ऑनलाइन ही कटते रहते हैं और बहुत सी बार ग्राहक को इनकी जानकारी तक नहीं होती। वैसे अधिकतर बैंक एसएमएस और ईमेल के जरिए सर्विसेज के लिए वसूल रहे चार्जेस की जानकारी देते हैं लेकिन कई लोग इन्हें इग्नोर कर देते हैं, जबकि आपको इन्हें ध्यान से पढ़ना चाहिए। वहीं यदि आपके पास बैंक से अलर्ट नहीं आ रहे हैं तो आप ईमेल और फोन नंबर बैंक में जाकर अपडेट करवा सकते हैं। मंथली और क्वाटरली बैंक स्टेट्मेंट भी आपको ध्यान से पढ़ना चाहिए। हम बता रहे हैं, ऐसे 6 तरीके जिन्हें फॉलो करने पर आप एक्स्ट्रा चार्ज देने से बचेंगे।

5 ट्रांजैक्शन ही फ्री
कई बैंक 1 महीने में 5 ट्रांजैक्शन ही फ्री देते हैं। ऐसे में ATM से इस हिसाब से कैश निकालें जिससे आपको एक्स्ट्रा पैसे न देना पड़ें।

नेट बैंकिंग का Use करें
चेकबुक के बजाए नेट बैंकिंग के जरिए पैसों का लेनदेन करें। इससे अतिरिक्त चार्ज से बचेंगे।

क्रेडिट कार्ड से पैसे न निकालें

क्रेडिट कार्ड के पेमेंट पर जो इंटरेस्ट लगता है उसके ऊपर बैंक ट्रांजैक्शन फीस वसूलते हैं। इसलिए क्रेडिट कार्ड से पैसे निकालने से बचें।

मिनिमम अमाउंट पूरा रखें
अपने बैंक अकाउंट में मिनिमम अमाउंट हमेशा रखें। इससे भी अतिरिक्त चार्ज से बचेंगे।

स्टेट्मेंट ईमेल पर बुलवाएं

डुप्लीकेट स्टेट्मेंट बैंक ब्रांच की बजाए अपने ईमेल पर बुलवाएं। इससे आपको चार्ज नहीं देना होगा।

पैसा होने पर ही चेक दें
अकाउंट में बैलेंस नहीं है तो किसी को चेक न दें। ऐसा करने पर आप पर पेनल्टी तो लगेगी ही साथ ही आप कानूनी पचड़े में भी फंस जाएंगे।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Saving Money Tips