नई दिल्ली. देश में पिछड़ी जातियों की आवाज उठाने के लिए इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (आईआईटी) के 50 पूर्व छात्रों ने नौकरी छोड़कर राजनीतिक दल बनाया है।

नई दिल्ली. देश में पिछड़ी जातियों की आवाज उठाने के लिए इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (आईआईटी) के 50 पूर्व छात्रों ने नौकरी छोड़कर राजनीतिक दल बनाया है। चुनाव आयोग से मंजूरी का इंतजार कर रहे इस ग्रुप ने अपनी पार्टी का नाम ‘बहुजन आजाद पार्टी’ (बीएपी) रखा है। पार्टी के मुखिया नवीन कुमार का कहना है कि हमारे दल में सभी लोग देश के अलग-अलग आईआईटी से ग्रैजुएट हैं और सभी ने अपनी नौकरियां छोड़ दी हैं।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें