शिमला. हिमाचल प्रदेश के लाहौल-स्पीति जिले में सब जीरो टेम्परेचर (-17.78 डिग्री सेल्सियस) रिकॉर्ड किया गया है। इसके चलते नदियां और झीलें जम गई हैं। हिमाचल के

शिमला. हिमाचल प्रदेश के लाहौल-स्पीति जिले में सब जीरो टेम्परेचर (-17.78 डिग्री सेल्सियस) रिकॉर्ड किया गया है। इसके चलते नदियां और झीलें जम गई हैं। हिमाचल के कई इलाकों में 21 से 23 सितंबर के बीच बादल फटने से भारी बारिश और बर्फबारी हुई थी। इसके चलते छतरू और छोटा दारा जैसे इलाकों में कई कारें और बाइक्स फंस गई थीं।

न्यूज एजेंसी के मुताबिक, स्पीति घाटी का तापमान काफी गिर गया है। छतरू इलाके में बहने वाली चंद्रा नदी बर्फ की चादर में बदल गई है। हाल ही में हुई बर्फबारी के चलते कई इलाकों में फंसे सैकड़ों स्थानीय लोगों और विदेशियों को हेलिकॉप्टर से रेस्क्यू किया गया था।

हिमाचल के पहाड़ी इलाकों में रास्ता बंद: रोहतांग, कुंजुम और बरलाचा दर्रे में भारी बर्फबारी के चलते इनका संपर्क लाहौल-स्पीति घाटी से टूट गया है। पानी और बिजली सप्लाई भी बाधित हुई है और सैकड़ों पर्यटक फंस गए हैं। मनाली के एसडीएम रमन गरसंघी ने कहा है कि मनाली-रोहतांग पास सोमवार को खुल जाएगा। इलाके को बर्फबारी के चलते बंद कर दिया था और पर्यटकों को यहां जाने की इजाजत नहीं थी। पर्यटकों को ग्रीन परमिट के जरिए ही वहां जाने की इजाजत होगी। ग्रीन परमिट को ऑनलाइन ही लिया जा सकेगा।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
हिमाचल की चंद्रा नदी जम गई।
लाहौल-स्पीति जिले में तापमान -17.78 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया।
दो हफ्ते पहले हिमाचल के ऊंचे इलाके में हुई बर्फबारी में कई गाड़ियां फंस गई थीं।
बर्फबारी के चलते लोगों को हेलिकॉप्टर से निकालना पड़ा था।