एजुकेशन डेस्क। आईटी सेक्टर की सबसे बड़ी कंपनियों में शामिल टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (TCS) अपनी रिक्रूटिंग प्रॉसेस में बदलाव करने जा रही है। नई प्रॉसेस से

एजुकेशन डेस्क। आईटी सेक्टर की सबसे बड़ी कंपनियों में शामिल टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (TCS) अपनी रिक्रूटिंग प्रॉसेस में बदलाव करने जा रही है। नई प्रॉसेस से कंपनी एक बार रिक्रूटमेंट कर भी चुकी है।

टीसीएस पूरी रिक्रूटमेंट प्रॉसेस का डिजिटाइजिंग करने जा रही है। अभी तक कंपनी कैंडिडेट्स को रिक्रूट करने के लिए कैंपस प्लेसमेंट के कॉलेजों में जाती है। अधिकतर आईटी कंपनियां इसी तरह से रिक्रूटमेंट करती हैं लेकिन अब टीसीएस इस प्रॉसेस को बंद करने जा रही है। कंपनी पेन इंडिया लेवल पर ऑनलाइन टेस्ट करेगी। इसे नेशनल क्वालिफायर टेस्ट नाम दिया गया है।

कैसे होगा पूरा टेस्ट
- ऑनलाइन टेस्ट होगा
- वीडियो इंटरव्यू लिए जाएंगे
- फेस टू फेस इंटरव्यू भी हो सकते हैं। यह कैंडिडेट की लोकेशन पर डिपेंड करेगा।


पुरानी और नई प्रॉसेस के आंकड़े क्या कहते हैं
- पिछले साल ट्रेडीशनल पैटर्न से की गई हायरिंग प्रॉसेस में देशभर से 1 लाख 1818 स्टूडेंट्स ने रजिस्ट्रेशन किया। 370 कॉलेज इसमें शामिल थे। इस प्रॉसेस को पूरा होने में 3 से 4 महीने का समय लगा।

- नई प्रॉसेस में 2 लाख 80 हजार स्टूडेंट्स ने रजिस्ट्रेशन किया। प्रॉसेस महज 3 से 4 हफ्तों में पूरी हो गई।

नई प्रॉसेस से कंपनी को क्या फायदा होगा
- ज्यादा से ज्यादा स्टूडेंट्स टेस्ट में शामिल हो सकेंगे। इससे बेस्ट टैलेंट निकलकर सामने आ सकेगा।
- समय कम लगेगा।
- ज्यादा कॉलेजों के स्टूडेंट्स शामिल हो सकेंगे। कैंपस प्लेसमेंट में निश्चित कॉलेजों तक ही कंपनी पहुंच पाती थी।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
TCS switches to online test to recruit candidates