गुवाहाटी. असम के तिनसुकिया जिले के बिशनोईमुख गांवमें उग्रवादी हमले में 5 लोगों के मारे जाने की खबर है। घटना गुरुवारशाम करीब 7बजे की है। हमले के पीछे

गुवाहाटी. असम के तिनसुकिया जिले के बिशनोईमुख गांवमें उग्रवादी हमले में 5 लोगों के मारे जाने की खबर है। घटना गुरुवारशाम करीब 7बजे की है। हमले के पीछे यूनाईटेड लिब्रेशन फ्रंटऑफ असम (उल्फा) का हाथ बताया जा रहा है।

घटना से पहलेउग्रवादियों नेछह युवकों को अगवा कर लिया था।इसके बाद उग्रवादी इन युवाओं को ले गए औरगोली मार दी। इनमें से चार लोगों की मौके पर ही मौत हो गई, जबकिएक नेअस्पताल ले जाते समय दम तोड़ा।एक घायल शख्स को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

रिपोटर्स के मुताबिक उल्फा के ये उग्रवादी परेश बरुआ ग्रुप के बतलाए जा रहे हैं, जिसे उल्फा आई के नाम से भी जाना जाता है। उग्रवादियों ने उस वक्त युवाओं पर फायरिंग की, जब वे ढोला सादिया पुल के करीब थे। ये युवा बंगाली समुदाय से जुड़े बताए जा रहे हैं। मृतकों के नाम श्यामलाल बिस्वास, अनंता बिस्वास, अभिनाश बिस्वास और सुबोध दास बताए गए हैं।

असम पुलिस के एडीजीपी मुकेश अग्रवाल के मुताबिकहमले के पीछे उल्फा (आई) के उग्रवादियों का हाथ है।

गृहमंत्री राजमंत्री सिंह ने इस हमले की निंदा की है। उन्होंने कहा, 'मैंने असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल से इस सिलसिले में बात की है। उन्हें इस मामले में कड़ा कदम उठाने के निर्देश दिए हैं।'

असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने हमले की कड़ी आलोचना करते हुए इसे निर्दोष लोगों की हत्या करार दिया। उन्होंने कहा, 'इस कायरतापूर्ण हिंसा में शामिल लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।' सोनोवाल ने साथ ही कहा कि उन्होंने राज्य के मंत्री केशव महंत और तपन गोगोई को डीजीपी कुलधर सैकिया के साथ घटनास्थल पर पहुंचने के निर्देश दिए हैं।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
ulfa Militants killed five people