नई दिल्ली. भारत ने तेल आयात के लिए ईरान के साथ गुरुवार को नए समझौते पर हस्ताक्षर किए। भारत अब ईरान को कच्चे तेल के आयात का भुगतान रुपयों में करेगा। 5 नवंबर

नई दिल्ली. भारत ने तेल आयात के लिए ईरान के साथ गुरुवार को नए समझौते पर हस्ताक्षर किए। भारत अब ईरान को कच्चे तेल के आयात का भुगतान रुपयों में करेगा। 5 नवंबर को दोबारा अमेरिकी प्रतिबंध लगाए जाने के बाद ईरान के साथ भारत ने नए मेमोरेंडम ऑफ अंडरस्टैंडिंग (एमओयू) पर साइन किए।

  1. सूत्रों ने बताया किअब भारत यूको बैंक के जरिए ईरान की राष्ट्रीय तेल कंपनी एनआईओसी के बैंक अकाउंट में रुपयों के जरिए भुगतान करेगा।

  2. "ईरान को भुगतान किए जाने वाले रुपयों में से आधी राशि का इस्तेमाल ईरान भारतीय उत्पाद खरीदने में करेगा।"

  3. अपने आयात को घटाने की शर्त पर भारत को अमेरिकी प्रतिबंधों से छूट मिली है। इसके अलावा भारत ईरान को अनाज, दवाइयां, चिकित्सकीय उपकरण निर्यात कर सकता है।

  4. 180 दिनों तक की छूट के दौरान भारत हर दिन ईरान से अधिकतम 3 लाख बैरल कच्चा तेल आयात कर सकता है। इससे पहले भारत प्रतिदिन करीब 5.6 लाख बैरल कच्चा तेल ईरान से आयात कर रहा था।

  5. ईरान से कच्चा तेल आयात करने वालों में भारत दूसरा सबसे बड़ा देश है, पहला नंबर चीन का है। भारत ने पिछले साल ईरान से 22.6 मिलियन टन तेल आयात किया था, जो कि अब 15 मिलियन टन सालाना तक सीमित हो गया है।



    1. Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
      India inks pact with Iran to pay crude bill in rupee