नई दिल्ली. आयुष्मान भारत के लिए यूपी, ईस्ट, वेस्ट, नॉर्थ, साउथ और सेंट्रल यानी देश के 6 जोन में कॉल सेंटर खुलेंगे। 200 कर्मियों की मदद से 24 घंटे चलेंगे। लोग टोल

नई दिल्ली. आयुष्मान भारत के लिए यूपी, ईस्ट, वेस्ट, नॉर्थ, साउथ और सेंट्रल यानी देश के 6 जोन में कॉल सेंटर खुलेंगे। 200 कर्मियों की मदद से 24 घंटे चलेंगे। लोग टोल फ्री नंबर 14555 पर कॉल कर जान सकेंगे कि उन्हें किस अस्पताल से याेजना का लाभ मिलेगा। 25 सितंबर से योजना लागू होगी।आयुष्‍मान भारत दुनिया की सबसे बड़ी हेल्‍थ इंश्‍योरेंस स्‍कीम है। इसके लिए सरकार देश भर कॉल सेंटर की सुव‍िधा देने जा रही है। 25 सितंबर से आयुष्मान भारत स्कीम को देश भर में लांच होने वाली है।

6 जोन से शुरू होगा कॉल सेंटर
देश के 6 जोन में कॉल सेंटर लगाए जाएंगे। इनमें यूपी, ईस्ट, वेस्ट, नॉर्थ, साउथ और को सेंट्रल जोन शामिल हैं। वहीं बाद में राज्य अपनी जरूरत के मुताबिक कॉल सेंटर का विस्तार कर सकते हैं। फिलहाल इन 6 जोन के कॉल सेंटर में 200 कर्मी 24 घंटे के हिसाब से काम करेंगे। वहीं बाद में इनकी संख्या बढ़ाई जा सकती है।

कॉल सेंटर में क्या बात करें ?
कॉल सेंटर में फोन करके लाभार्थी अपने नजदीक के अस्पताल से लेकर स्कीम से जुड़ी तमाम जानकारी हासिल कर सकते हैं। कॉल सेंटर तीन राष्ट्रीय अवकाश के दिन को छोड़ बाकी सभी दिन 24 घंटे काम करेंगे।


पांस सौ कॉल अटेंडेंट रखे जाएंगे
आयुष्मान स्कीम से जुड़े कॉल सेंटर में नौकरी के लिए कम से कम ग्रेजुएट होना होगा। शुरू में सभी जोन में 30-35 कर्मी के हिसाब से भर्ती होगी। सभी जोन को मिलाकर कुल 200 भर्तियां होगी। बाद में इस संख्या को 500 तक किया जा सकता है। कॉल सेंटर के कर्मियों से ई-मेल व ई-चैट के जरिए भी आयुष्मान भारत स्कीम की जानकारी ली जा सकेगी।

आयुष्मान भारत स्कीम क्या है ?
देश के 10 लाख ऐसे परिवार जो गरीबी रेखा के नीचे हैं या अभी-अभी गरीबी रेखा से ऊपर आए हैं, उन्हें इस स्कीम का लाभ मिलेगा। इसके तहत सरकार उनके बीमार पड़ने पर इलाज में 5 लाख रुपये तक के खर्च का वहन करेगी। स्कीम का लाभ लेने के लिए किसी पंजीकरण की आवश्यकता नहीं है। बीमारी के इलाज के लिए सिर्फ कोई भी पहचान पत्र ले जाना होगा।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
14555 पर फोन कर जान सकेंगे किस अस्पताल में आपको मिलेगा इलाज