कॉमनवेल्थ गेम्स में 11वें और आखिरी दिन भारत ने बैडमिंटन में चार मेडल जीते। साइना नेहवाल ने गोल्ड, पीवी सिंधु, किदांबी श्रीकांत और सात्विक रंकीरेड्‌डी और

कॉमनवेल्थ गेम्स में 11वें और आखिरी दिन भारत ने बैडमिंटन में चार मेडल जीते। साइना नेहवाल ने गोल्ड, पीवी सिंधु, किदांबी श्रीकांत और सात्विक रंकीरेड्‌डी और चिराग चंद्रशेखर शेट्‌टी की जोड़ी ने सिल्वर मेडल अपने नाम किए। बैडमिंटन के वुमेन्स सिंगल्स का फाइनल मुकाबला साइना और सिंधु के बीच हुआ। इसमें साइना ने 21-18, 23-21 से जीत दर्ज की। वहीं किदांबी मेन्स सिंगल्स के फाइनल में मलेशिया के ली चोंग वेई से 19-21, 21-14, 21-14 से हार गए। मेन्स डबल्स में सात्विक और चिरागको इंग्लैंड के मार्क्स एलिस और क्रिस लैंग्रिज की जोड़ी ने 21-13, 21-16 से हराया। इसके अलावा भारत को स्क्वैश में एक सिल्वर और टेबल टेनिस में दो ब्रॉन्ज मेडल मिले। इस तरह भारत ने कॉमनवेल्थ गेम्स में अपने 84 साल के इतिहास में 500 मेडल्स का आंकड़ा पार कर लिया है। भारत ने पहली बार 1934 में कॉमनवेल्थ गेम्स में हिस्सा लिया था।