न्यूज डेस्क। आज जस्टिस रंजन गोगोई मुख्य न्यायाधीश का पदभार संभालेंगे। वे देश के 46वें प्रधान न्यायाधीश होंगे। जस्टिस गोगोई के शपथ ग्रहण समारोह में

न्यूज डेस्क। आज जस्टिस रंजन गोगोई मुख्य न्यायाधीश का पदभार संभालेंगे। वे देश के 46वें प्रधान न्यायाधीश होंगे। जस्टिस गोगोई के शपथ ग्रहण समारोह में अॅटार्नी जनरल केके वेणुगोपाल ने कहा कि न्यायाधीशों का वेतन तीन गुना तक बढ़ना चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि एक औसत वकील की आय के मुकाबले न्यायाधीशों का वेतन बहुत कम है। ऐसे में आज हम आपको बता रहे हैं भारत के प्रधान न्यायाधीश के पास कितनी संपत्ति है और सुप्रीम कोर्ट के एक सीनियर एडवोकेट प्रतिदिन कितना कमाते हैं। जस्टिस गोगोई ने यह जानकारी खुद सार्वजनिक की है।


चीफ जस्टिस के पास खुद की गाड़ी तक नहीं
- जस्टिस गोगोई 2001 से गुवाहाटी हाईकोर्ट में परमानेंट जज रहे। 2012 में सुप्रीम कोर्ट के जज बने। इतना लंबा समय बिताने के बावजूद सीनियर एडवोकेट्स की तुलना में इनकी संपत्ति बेहद कम है।

- जस्टिस गोगोई के पास गोल्ड ज्वेलरी का एक पीस तक नहीं है। उनकी पत्नी के पासशादी के समय की करीब 15 तोला (150 ग्राम) ज्वेलरी है। बच्ची की शादी के लिए 1.6 लाख रुपए की ज्वेलरी खरीदी थी।

- जस्टिस गोगोई के पास अपना पर्सनल व्हीकल नहीं है। वह सरकारी गाड़ी से ही आना-जाना करते हैं।

- खुद का कोई फ्लैट नहीं है। बिल्डिंग भी नहीं है। पत्नी के नाम से भी प्रॉपर्टी नहीं।

- 1999 में गुवाहाटी के बेलटोला में जमीन खरीदी थी।
- शेयर और म्युचुअल फंड में कोई निवेश नहीं।
- एसबीआई की गुवाहाटी हाईकोर्ट ब्रांच में 5.50 लाख रुपए जमा।
- 1999 में एक 5 लाख रुपए की एलआईसी पॉलिसी ली।

जस्टिस गोगोई पर कोई लायबिलिटी भी नहीं...

- जस्टिस गोगोई के पर कोई आउटस्टेंडिंग लोन, मोर्टगेज, ओवरड्राफ्ट, अनपेड बिली जैसी लायबिलिटी नहीं है।


रिटायर हो रहे जस्टिस मिश्रा के पास कितनी संपत्ति...

- हाल ही में सीजेआई के पद से रिटायर हुए जस्टिस दीपक मिश्रा 21 साल जज रहे। 14 साल हाईकोर्ट में रहे।
- सीजेआई मिश्रा के पास दो गोल्ड रिंग्स हैं। एक गोल्ड चैन है। उनकी वाइफ के पास भी थोड़ी ज्वेलरी है।
- इनके पास अपना पर्सनल व्हीकल नहीं है।
- जस्टिस मिश्रा ने 22.5 लाख रुपए का लोन बैंक से फ्लैट खरीदने के लिए लिया था। उन्होंने इससे दिल्ली के मयूर विहार में स्थित कॉपरेटिव सोसायटी में फ्लैट खरीदा था।

- जस्टिस मिश्रा का कटक में एक घर है।


कितना कमाते हैं सुप्रीम कोर्ट के एक सीनियर एडवोकेट...
- सुप्रीम कोर्ट के सीनियर एडवोकेट से कम्पेयर किया जाए तो SC के एक सीनियर एडवोकेट एक सुनवाई के मुताबिक 25 लाख रुपए तक फीस चार्ज करते हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक राम जेठमलानी एक सुनवाई के 25 लाख रुपए तक चार्ज करते हैं।
- शायद इसी को देखते हुए अटॉर्नी जनरल जजों का वेतन बढ़ाने की बात कह रहे हैं।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Ranjan Gogoi has no house, no mortgage