आध्यात्मिक नेता दलाई लामा (83) ने जवाहर लाल नेहरू को आत्मकेंद्रित व्यक्ति करार दिया। दलाई ने बुधवार को गोवा में एक कार्यक्रम में कहा, महात्मा गांधी

आध्यात्मिक नेता दलाई लामा (83) ने जवाहर लाल नेहरू को आत्मकेंद्रित व्यक्ति करार दिया। दलाई ने बुधवार को गोवा में एक कार्यक्रम में कहा, महात्मा गांधी मोहम्मद अली जिन्ना को भारत का प्रधानमंत्री बनाना चाहते थे, लेकिन जवाहर लाल नेहरू ने इसके लिए इनकार कर दिया। अगर गांधीजी की यह इच्छा पूरी हो जाती तो भारत का विभाजन ही नहीं होता। पंडित नेहरू काफी अनुभवी और बुद्धिमान थे लेकिन उनसे कुछ गलतियां भी हुईं। दलाई ने ये भी कहा कि सामंती की बजाय लोकतांत्रिक व्यवस्था ज्यादा बेहतर होती है। सामंती व्यवस्था में फैसला लेने का हक केवल कुछ लोगों के हाथ में होता है जो ज्यादा खतरनाक है।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें