कर्नाटक में सत्ता के लिए भाजपा और जेडीएस-कांग्रेस के बीच रस्साकशी शुरू हो गई है। तीनों पार्टियां बहुमत के लिए जरूरी 112 विधायक होने का दावा कर रही हैं।

कर्नाटक में सत्ता के लिए भाजपा और जेडीएस-कांग्रेस के बीच रस्साकशी शुरू हो गई है। तीनों पार्टियां बहुमत के लिए जरूरी 112 विधायक होने का दावा कर रही हैं। विधायक दल की बैठक के बाद येद्दियुरप्पा ने राज्यपाल वजुभाई वाला से मुलाकात की। इस बीच, जेडीएस-कांग्रेस ने भाजपा पर खरीद-परोख्त का आरोप लगाया है। जनता दल सेक्युलर के चीफ एचडी कुमारस्वामी ने यहां तक कह दिया कि वे लोग (भाजपा नेता) पार्टी के विधायकों को 100-100 करोड़ रुपए का ऑफर दे रहे हैं। इससे पहले कांग्रेस के एक विधायक अमरेगौड़ा लिंगानागौड़ा पाटिल बाय्यापुर ने कहा कि बीजेपी नेताओं ने उन्हें मंत्री पद का ऑफर दिया था। कांग्रेस ने भी भाजपा के 6 विधायकों के संपर्क में होने का दावा किया है। बता दें कि इस चुनाव में भाजपा को 104, कांग्रेस को 78 और जेडीएस गठबंधन को 38 सीटें मिली हैं।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें