जम्मू-कश्मीर में पीडीपी-भाजपा गठबंधन टूटने के बाद 20 जून से राज्यपाल शासन लागू है, लेकिन अब यहां नई सरकार बनने की चर्चा तेज हो गई है। भाजपा के सूत्रों के

जम्मू-कश्मीर में पीडीपी-भाजपा गठबंधन टूटने के बाद 20 जून से राज्यपाल शासन लागू है, लेकिन अब यहां नई सरकार बनने की चर्चा तेज हो गई है। भाजपा के सूत्रों के मुताबिक, पीपुल्स डेमोक्रेटिक फ्रंट (पीडीपी) के कुछ नेता भगवा पार्टी के नेतृत्व में जम्मू-कश्मीर की राजनीति में सुनामी लाने के लिए तैयार हैं। वहीं, पीडीपी और कांग्रेस समेत अन्य पार्टियों के बागी व असंतुष्ट नेता कुछ दिनों में एक साथ आ सकते हैं। बता दें कि 2015 में भाजपा-पीडीपी गठबंधन के सूत्रधार और पार्टी के वरिष्ठ नेता राम माधव ने 27 जून को पीपुल्स कॉन्फ्रेंस के नेता सज्जाद लोन से मुलाकात की थी।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें