नई दिल्ली.आतंकी संगठन में शामिल हुए कश्मीरी छात्र के परिजनों ने अपने बेटे से वापस घर आने की अपील की। साथ ही आतंकियों से भी अपील की है कि वे उनके बेटे पर रहम

नई दिल्ली.आतंकी संगठन में शामिल हुए कश्मीरी छात्र के परिजनों ने अपने बेटे से वापस घर आने की अपील की। साथ ही आतंकियों से भी अपील की है कि वे उनके बेटे पर रहम करें और उसे वापस घर आने दें। 17 साल का अहतेशाम बिलाल सोफी ग्रेटर नोएडा की एक यूनिवर्सिटी का छात्र है। उसके आतंकी संगठन आईएसजेके में शामिल होने का दावा किया जा रहा है। सोशल मीडिया पर अहतेशाम की कुछ तस्वीरें भी वायरल हो रही हैं।

  1. श्रीनगर निवासी अहतेशाम बिलाल सोफी (17) ग्रेजुएशन फर्स्ट ईयर का छात्र है। वह 28 अक्टूबर को दिल्ली जाने की अनुमति लेकर गया था। इसके बाद लौटकर नहीं आया। यूनिवर्सिटी के अफसरों को रविवार रात हाजिरी के दौरान बिलाल के लापता होने की जानकारी मिली। इसके बाद ग्रेटर नोएडा के नॉलेज पार्क थाने में गुमशुदगी दर्ज कराई गई।

  2. थाना प्रभारी अरविंद पाठक ने बताया कि बिलाल के मोबाइल की आखिरी लोकेशन रविवार दोपहर 2.30 बजे श्रीनगर में मिली। पुलिस को शक है कि वह 10 बजे दिल्ली एयरपोर्ट से फ्लाइट लेकर श्रीनगर पहुंचा। उसने अपने पिता को 4.30 बजे आखिरी कॉल किया था। तब लोकेशन दक्षिण कश्मीर के पुलवामा में मिली। इसके बाद से मोबाइल स्विच ऑफ है।

  3. एटीएस के आईजी असीम अरुण ने शुक्रवार को बताया कि ग्रेटर नोएडा से लेकर श्रीनगर तक छात्र के बारे में जानकारियां जुटाई जा रही हैं। इसके लिए एजेंसी लगातार श्रीनगर पुलिस के संपर्क में है। जानकारी मिली है कि कुछ दिन पहले भारतीय और अफगानी छात्रों के झगड़े में गलती से उसकी पिटाई कर दी गई थी।

  4. बिलाल सोफी के साथियों ने बताया कि वह यूनिवर्सिटी के माहौल में खुद को ढाल नहीं पा रहा था। अचानक उसके गायब होने से सोशल मीडिया में कई तरह के कयास लगने लगे और जांच की मांग की गई। उसने माता-पिता को दिवाली के मौके पर ग्रेटर नोएडा बुलाया था।

  5. अहतेशाम के पिता बिलाल अहमद का वीडियो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है। इसमें वे कहते दिख रहे हैं, "उनका बेटा उनके वंश को आगे बढ़ाने वाला अकेला वारिश है। हम पर दया रखना, उसे वापस आने दो, अल्लाह तुम पर रहम करेगा।"



    1. Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
      अहतेशाम बिलाल सोफी की यह तस्वीर सोशल मीडिया में वायरल हुई।