न्यूज डेस्क। कई बार बैंक में कर्मचारी ग्राहकों से अच्छा व्यवहार नहीं करते। बैंक कर्मचारियों की तरफ से अपना काम बेहतर तरीके से न किए जाने की शिकायतें भी

न्यूज डेस्क। कई बार बैंक में कर्मचारी ग्राहकों से अच्छा व्यवहार नहीं करते। बैंक कर्मचारियों की तरफ से अपना काम बेहतर तरीके से न किए जाने की शिकायतें भी अक्सर आती हैं। यदि आपको बैंक में संतोषजनक सेवा नहीं मिल रही है तो आप इसके खिलाफ शिकायत कर सकते हैं। आज हम आपको बता रहे हैं कि बैंक की किसी भी सेवा से आप संतुष्ट नहीं है तो आप कैसे अपनी बात ऊपर तक पहुंचा सकते हैं और अपना काम करवा सकते हैं।

कहां की जा सकती है शिकायत
आरबीआई के मुताबिक, स्टेटमेंट चार्जेस, एटीएम ट्रांजैक्शन, क्रेडिट कार्ड से जुड़ी कोई प्रॉब्लम है तो आप सबसे पहले बैंक ब्रांच में जाकर रजिस्टर में अपनी शिकायत दर्ज करवा सकते हैं। बैंक में शिकायत अधिकारी और ब्रांच मैनेजर के सामने पूरा मामला रख सकते हैं। चाहें तो बैंक की वेबसाइट पर ऑनलाइन शिकायत दर्ज करवा सकते हैं। 1 महीने तक यहां से कोई समाधान नहीं मिलता तो आप बैंकिंग लोकपाल के पास अपनी शिकायत दर्ज करवा सकते हैं।


कौन होते हैं बैंकिंग लोकपाल
- बैंकिंग लोकपाल आरबीआई के द्वारा ही अपॉइंट किए जाते हैं। यह सीनियर लेवल के ऑफिसर होते हैं। इंडिया बैंकिंग लोकपाल स्कीम 2006 के तहत काम करते हैं।

- इनकी मुख्य जिम्मेदारी कस्टमर्स द्वारा की जाने वाली शिकायतों का निपटारा करने की होती है। अभी अलग-अलग राज्यों में 15 से ज्यादा बैंकिंग लोकपाल नियुक्त हैं।

- आप नॉन पेमेंट, पेमेंट में डिले, फेल्योर और डिले इश्यू जैसे तमाम मामलों में यहां शिकायत कर सकते हैं। बैंक ने अतिरिक्त चार्ज लगाया हो, अकाउंट को बिना मतलब के बंद कर दिया हो, फेसिलिटी नहीं दे पा रहा हो, तय घंटे से पहले बंद हो रहा हो तब भी शिकायत की जा सकती है।

- आप bankingombudsman.rbi.org.in पर जाकर ऑनलाइन ही बैंकिंग लोकपाल तक अपनी शिकायत पहुंचा सकते हैं।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Banking Ombudsman