नई दिल्ली. बैंकों ने खाते में मिनिमम बैलेंस न रखने पर वित्त वर्ष 2017-18 में ग्राहकों से 5 हजार करोड़ रुपए जुर्माना वसूला। जुर्माने की राशि में इजाफा दर्ज

नई दिल्ली. बैंकों ने खाते में मिनिमम बैलेंस न रखने पर वित्त वर्ष 2017-18 में ग्राहकों से 5 हजार करोड़ रुपए जुर्माना वसूला। जुर्माने की राशि में इजाफा दर्ज किया गया है। ऐसा तब है, जब जनधन योजना के तहत बैंकों ने 30.8 करोड़ ऐसे ग्राहकों के खाते खोले हैं, जो मिनिमम बैलेंस रख पाने में सक्षम नहीं हैं। सबसे ज्यादा वसूली 2433 करोड़ स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने की, जो कि कुल जुर्माने का करीब आधा है।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें