नई दिल्ली. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मंगलवार को ट्रांसजेंडर अप्सरा रेड्डी को महिला कांग्रेस (एआईएमसी) की राष्ट्रीय महासचिव नियुक्त किया। अप्सरा

नई दिल्ली. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मंगलवार को ट्रांसजेंडर अप्सरा रेड्डी को महिला कांग्रेस (एआईएमसी) की राष्ट्रीय महासचिव नियुक्त किया। अप्सरा पहली ट्रांसजेडर हैं, जो कांग्रेस में महासचिव बनीं। अप्सरा पेशे से पत्रकार हैं और अन्नाद्रमुक छोड़कर कांग्रेस में शामिल हुईं।

ट्रांसजेडर के अधिकारों की आवाज उठाने वाली अप्सरा
राहुल ने कांग्रेस सांसद और एआईएमसी की अध्यक्ष सुष्मिता देव की मौजदूगी में अप्सरा को कांग्रेस की सदस्यता दिलाते हुए महासचिव नियुक्त किया। ट्रांसजेडर के अधिकारों की आवाज उठाने वाली अप्सरा कांग्रेस में आने से पहले अन्नाद्रमुक पार्टी की सदस्य थीं। अन्नाद्रमुक से पहले वे भाजपा से जुड़ी थीं।

- कांग्रेस में शामिल होने के बाद अप्सरा ने कहा, 'मैं फासीवादी भाजपा तानाशाही के खिलाफ जोर शोर के साथ अभियान चलाऊंगी। साथ ही मैं महिलाओं को आर्थिक रूप से सशक्त करने और उनके अधिकारों की रक्षा के लिए कार्य करती रहूंगी।'

सोशल मीडिया पर रिएक्शन :

अप्सरा ने चेंज किया था जेंडर :अप्सरा का जन्म लड़के के रूप में हुआ था। बाद में उन्होंने अपना जेंडर चेंज कर लिया। उन्होंने ऑस्ट्रेलिया और लंदन से जर्नलिज़्म की पढ़ाई की। वे एक पत्रकार के तौर पर कई अंतरराष्ट्रीय स्तर की पत्रिकाओं के साथ काम कर चुकी हैं।

रेड्डी का राजनीतिक सफर :अप्सरा 2016 में भारतीय जनता पार्टी में शामिल हुईं थी। कुछ दिनों बाद ही पार्टी में स्वतंत्र विचारों के अभाव की बात कहकर उन्होंने भाजपा से इस्तीफा दे दिया। इसके बाद पूर्व सीएम जयललिता ने अप्सरा को अन्नाद्रमुक में शामिल करते हुए पार्टी प्रवक्ता बनाया। जयललिता के निधन के बाद पार्टी में घमासान शुरू हुआ और इसी वजह से अप्सरा ने इस पार्टी से भी इस्तीफा दे दिया।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Apsara Reddy becomes the first transgender office-bearer for the Congress party