नोशनल डेस्क। देश में वीआईपी कल्‍चर पर हमेशा से बड़ी बहस होती रही है। नेता चुनाव जीतते हैं और देखते ही देखते उनका ढंग, रहन-सहन सब बदल जाता है। लेकिन इसी देश

नोशनल डेस्क। देश में वीआईपी कल्‍चर पर हमेशा से बड़ी बहस होती रही है। नेता चुनाव जीतते हैं और देखते ही देखते उनका ढंग, रहन-सहन सब बदल जाता है। लेकिन इसी देश में कुछ नेता-मंत्री ऐसे ही हैं, जो आज भी अपनी जमीन से जुड़े हुए हैं। ऐसे ही एक नेता हैं पुडुचेरी के कृषि मंत्री कमलाकनन। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक वो हाल ही में अपने विधानसभा क्षेत्र थिरुनल्लार में गए थें और इस दौरान उन्होंने अपने खेतों में दो घंटे तक काम किया। सोशल मीडिया पर कमलाकनन की ये तस्‍वीर खूब वायरल हो रही है। पुडुचेरी की राज्यपाल किरण बेदी ने भी इसे शेयर की है। उन्होंने लिखा कि 'अंदाज लगाइए कौन हैं ये? ये हैं पुडुचेरी के कृषि मंत्री कमलाकनन वह एक सच्चे किसान हैं'। तस्वीर में कमलाकनन पानी से भरे धान के खेत में फावड़ा चला रहे हैं. उनके पैस मिट्टी से सने हुए हैं और वह एक आम किसान की तरह खेती में मगन हैं। आपको बता दें आर कमलाकनन के पास कृषि मंत्रालय के अलावा बिजली, शिक्षा,सैनिक वेलफेयर और सामुदायिक विकास मंत्रालय भी हैं।

कौन हैं कमलाकनन?
आर कमलाकनन कांग्रेस पार्टी के नेता हैं और थिरुनल्लार विधानसभा क्षेत्र के विधायक हैं. उनके पास कृषि मंत्रालय के अलावा बिजली, शिक्षा, सैनिक वेलफेयर और

सामुदायिक विकास मंत्रालय भी हैं. दि हिंदू की रिपोर्ट के अनुसार वो बीते रविवार को वह अपने विधानसभा क्षेत्र में गए थें और इस दौरान उन्होंने अपने खेतों में दो घंटे तक काम किया.

कमलाकनन ने बताया, 'राजनीति में सक्रिय होने के बाद भी मैं खेती में समय देता हूं। हालांकि मंत्री बनने के बाद व्यस्त दिनचर्या के कारण समय कम मिल पाता ह।' उन्होंने कहा कि इस वह धान की खेती से संतुष्टि नहीं थे, इसलिए उन्हें मजबूरी में मंत्रालय के काम से छुट्टी लेकर वहां जाना पड़ा. इस धान की खेती के लिए खेत को सही तरह से तैयार नहीं किया गया था, जिसके चलते पैदावार घट गई थी। इसलिए उन्होंने खेत को खुद तैयार करने का फैसला किया।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
minister-agriculture-puducherry-mr-kamlakanan-true-farmer