1967 अरब युद्ध में इजरायल को सिर्फ 7 दिनों के अंदर ही जीत मिल गई थी। 4 अलग-अलग ताकतवरों देशों के खिलाफ खड़े इजरायल की जीत में सबसे बड़ी भूमिका निभाई थी उसकी खुफिया एजेंसी मोसाद ने। मोसाद के एक एजेंट इलाई कोहेन ने पड़ोसी सीरिया में 1960 के दशक में अपनी जासूसी की बदौलत सीरिया से कई अहम राज निकाले। इनमें इजरायल के खिलाफ अरब देशों की योजनाएं भी शामिल थीं। हालांकि, अरब युद्ध से पहले ही इलाई की सच्चाई सामने आ गई और उन्हें मौत की सजा दी गई। साथ ही शव को एक गुमनाम जगह पर दफना दिया गया। हाल ही में मोसाद ने एक ऑपरेशन चलाकर अपने हीरो जासूस की घड़ी वापस इजरायल पहुंचाई है। प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने गुरुवार को इसका ऐलान करते हुए मोसाद को बधाई दी।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें